तनाव से तुरंत छुटकारा कैसे पाएं ? जानिए 6 वेहतरीन तरीके जो आप कही भी कर सकते है। - आरोग्य भारत

आरोग्य भारत, आपका भरोशेमंद हेल्थ वेबसाइट

Translate

गुरुवार, 14 जनवरी 2021

तनाव से तुरंत छुटकारा कैसे पाएं ? जानिए 6 वेहतरीन तरीके जो आप कही भी कर सकते है।

 तनाव से तुरंत राहत कैसे पाएं ???

तनाव से तुरंत राहत हिंदी में

मौके पर ही तनाव को दूर करने और शांत और अपने काम पर केंद्रित रहने के लिए अपनी इंद्रियों की शक्ति का उपयोग करना सीखें - चाहे आप पर जीवन में कितने भी परेशानी क्यों ना हो।


तनाव दूर करने का सबसे तेज़ तरीका क्या है?


 तनाव के कम या काबू में करने के लिए अनगिनत तकनीकें हैं।  योग, मेडिटेशन और व्यायाम तनाव से राहत देने वाली गतिविधियों के कुछ ही उदाहरण हैं जो चमत्कार करते हैं।  लेकिन आप कोई ऐसी परिस्थिति में है जैसे कि बहुत ही जटिल काम या नौकरी के लिए साक्षात्कार के दौरान, या अपने साथी के साथ किसी बात पे असहमति के दौरान, तो उस वक़्त आप ध्यान लगाने या लंबी सैर करने या व्यायाम जैसे काम नही कर सकते। इन स्थितियों में आपको तनाव दूर करने के लिए तत्काल और जल्दी उपाय चाहिए जो को आप वही पर कर सकें।


 तनाव को भगाने के लिए सबसे तेज और विश्वसनीय तरीकों में से एक यह है कि आप अपने  एक या एक से ज्यादा इंद्रियों जैसे कि - दृष्टि, ध्वनि, स्वाद, गंध, स्पर्श - को महसूस करें। क्योंकि हर इंसान अलग होते है, इसलिए आपको यह पता लगाने के लिए कुछ प्रयोग करने की आवश्यकता है कि कौन सी तकनीक आपके लिए सबसे अच्छा काम करती है। इतना याद रखिये की प्रयोग में समय लग सकता है लेकिन इसका लाभ बहुत बड़ा मिलेगा। एक बार इस प्रयोग में सफल हो जाएंगे तो आप कैसी भी तनाव को तुरंत दूर करके आप शांत और अपने काम पे केंद्रित रह सकते हैं।


 समाज मे घुलमिल भावनात्मक विकास के लिए सबसे अच्छी और लाभदायक तरीका है। कोई ऐसा इंसान या दोस्त जो आपकी क़दर और भरोशा करता हो और आपकी बातों को आराम से सुनता हो, वैसे के साथ आमने-सामने बैठ के बात करने से आप जल्दी से शांत हो सकते हैं और तनाव भी कम या खत्म कर सकते हैं।  हालाँकि, हमेशा तनावपूर्ण स्थिति के वक़्त आपके पास कोई करीबी दोस्त नहीं हो सकता है, इसीलिए आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए घनिष्ठ संबंधों या दोस्तों का एक ग्रुप बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

तनाव को तुरंत खत्म करने के लिए कुछ सुझावों का प्रयोग करे जैसे कि:-



टिप 1: आप कब तनाव की स्तिथि में आते हो इसका पहचान करें


इसकी संभावना है कि जब आप तनावग्रस्त होंगे तब आपको पता चल जाएगा, लेकिन हम में से कई लोग उलझन अवस्था में इतना समय बिताते हैं कि हम भूल जाते हैं कि ऐसा क्या महसूस होता है जब हम संतुलन में होते हैं। यदि यह आप हैं, तो जब आप अपने शरीर में होने वाली हलचल को महसूस करके उनकी पहचान सकते हैं।  जब आप थक जाते हैं, तो आपकी आँखें भारी महसूस होती हैं और आप अपना सिर अपने हाथ पर रख सकते हैं।  जब आप खुश होते हैं, तो आप आसानी से हंसते हैं। वैसे ही जब आप तनाव में होते हैं, तो आपका शरीर आपको यह बात भी बता देता है।  अपने शरीर में होनेवाली हलचल पर ध्यान देने की आदत डालें।


 अपनी मांसपेशियों और अंदरूनी अंगों का निरीक्षण करें:

क्या आपकी मांसपेशियां तनावग्रस्त या पीड़ादायक स्तिथि में हैं?  क्या आपका पेट में अकड़न, तंग या दर्द हो रहा है?  क्या आपके हाथ या जबड़े अकड़े हुए हैं?


 अपनी सांस का निरीक्षण करें:-

 क्या आपकी श्वास उथली है?  एक हाथ अपने पेट पर रखें, दूसरा अपनी छाती पर।  प्रत्येक सांस के साथ अपने हाथों को उठते और गिरते हुए देखें।  ध्यान दें की आप पूरी तरह से सांस लेते हैं या सांस लेना भूल जाते हैं।


पढ़े:

तनाव से जुड़े चौकाने वाले लक्षण


टिप 2: तनाव के वक़्त अपनी प्रतिक्रिया को पहचानें


 आंतरिक रूप से, हमारी शरीर Fight-Flight (यानी लड़ाई या बचने की स्तिथि) यानी तनाव प्रतिक्रिया में समान तरीके का जवाब देते हैं जैसे कि रक्तचाप बढ़ जाता है, दिल तेजी से धड़कता करता है, और मांसपेशियों को दबाव बढ़ता है। लेकिन बाहरी रूप से सब विभिन्न तरीकों से तनाव का जवाब देते हैं।


 तनाव को जल्दी से दूर करने का सबसे अच्छा तरीका तनाव में आपके द्वारा की जानेवाली प्रतिक्रिया का पहचान है:


» यदि आप तनाव होने पे गुस्सा, उत्तेजित, अत्यधिक भावुक हो जाते हैं तो तनाव से राहत देने वाली उन गतिविधियां फायदेमंद रहेगी जो आपको शांत कर सके।


» यदि आप तनाव में उदास, पीछे हट जाते हैं या गुमसुम हो जाते हैं, तो तनाव से राहत देने वाली उन गतिविधियां आपके लिए सही रहता है जो आपमें फिर से जोश भर दे और आप तरोताज़ा महसूस करें।


इसीलिए यह जानना जरूरी है कि तनाव के वक़्त आप किस तरह की प्रतिक्रिया देते है।

 



टिप 3: अपनी इंद्रियों का इस्तेमाल करें


तुरंत ही अपनी इन्द्रियों के मदत से तनाव को दूर करने के लिए सबसे पहले आपको यह पता लगाना होगा कि आपके इन्द्रियों का कौन सा अहसाह आपके तनाव को दूर कर सकता है, जैसे कि अपनी सांस को महसूस करना या अपनी त्वचा पे रोशनी या हवा का महसूस करना, अगर आप संगीतप्रेमी है तो कौन सा संगीत सुनकर आपको शांति मिलती है इत्यादि। इसके लिए आपको कुछ प्रयोग करना होगा ताकि आपके लिए जो सही हो उसका पता लग सके। जैसे ही आप अलग अलग इंद्रियों से प्रयोग करेंगे, आप यह नोट करें कि कौन सा एहसास आपके तनाव के स्तर को जल्दी कम कर रहा है। और जितना हो सके उतना सटीक परिणाम ले। ऐसे ही अपनी इन्द्रियों से विभिन्न एहसास को महसूस करें चाहे आप जहा भी हो।

उदाहरण के लिए आप अपनी इंद्रियों से निम्नलिखित प्रयोग करके पता लगा सकते है की क्या यह आपके तनाव को तुरंत दूर कर रहा है या नही:-


दृष्टि

» अपने आसपास अपनी पसंदीदा पेड़ पौधे लगाए जिसपे आपकी नजर हमेशा रहे
» प्रकृति की खूबसूरती का अवलोकन करें
» अपने आसपास ऐसे रंग भरे जिससे आपको नई ऊर्जा मिलती हो
» अपनी आंखें बंद करे और ऐसी जगह या चीज की कल्पना करे जो आपको सुकून देती हो।


सुगंध

» अपना पसंदीदा खुश्बू का चयन करें
» अपने आसपास अच्छी खुश्बू वाली मोमबत्ती या अगरबत्ती जलाएं
» खुद को अपनी पसंदीदा खुश्बू से तरोताजा रखें
» खुली और ताज़ी हवा का आनंद लें


स्पर्श

» नरम कम्बल का इस्तेमाल करें
» अगर आप पालतू जानवरों से लगाव है तो उनका स्पर्श आपको आनंद प्रदान करेगा
» संभव हो तो शरीर का मसाज कराए
» हाथ या गर्दन का मसाज कराए
» ऐसे कपड़ो का इस्तेमाल करे जो आपके त्वचा पे नर्म हो


स्वाद

» मनपसंद चॉकलेट का सेवन करें
» पसंदीदा खाना खाएं
» स्वस्थ खाना या नास्ता पे खासकर ध्यान दे


ध्वनि

» अपना पसंदीदा गीत गाए
» अच्छी संगीत सुने जो आपको शांत कर सके
» अपने खिड़की पे पवन झंकार (Wind Chime) लगाए। इस से उत्पन होनेवाली ध्वनि काफी लाभदायक होती है

टिप 4: अपने मन मे किसी प्रेरणादायक संदर्भ को याद करे


 यदि आपको कोई प्रेरणा का स्रोत ढूंढने में दिकत आ रही है तो आप अपने आस-पास की जगहों से, अपने अतीत में हुई कोई अच्छी घटना से चुन सकते है।

जैसे कि:


» खुद को शांत रखने के लिए आप अपने बचपन या गुजरे हुए उन पलों को याद कीजिये जब आपके जिंदगी में खुशियां आयी थी।


» आप अपने आसपास दुसरो को देखे की वो कैसे तनाव से निपटते है। जैसे कि क्रिकेट में खिलाड़ी अक्सर च्युइंग गम चबाते है जिनसे उनका स्ट्रेस दूर रहे और वो खेल पे ध्यान लगा सके, गायक या स्टेज शो करने वाले कलाकार अपने कार्यक्रम से पहले अपने श्रोताओं से बात करते है ताकि कार्यक्रम के दौरान उन्हें अजनबी देखके घबराहट न हो। अपने पहचान वाले लोगों से पूछें की वो दबाव में कैसे केंद्रित रहते हैं।


» अपने मातापिता को देखकर अंदाज़ा लगाए की वो कैसे अपना तनाव दूर करते है। क्या वो लंबी सैर करके अच्छा महसूस करते है या कोई काम जो आपको लगता फिजूल लगता है लेकिन वे उसे मज़े से करते है???


एक बार आपको यह आदत लग गयी तो यकीन मानिए आप जब भी तनाव में होंगे, उस प्रेरणा को याद करते ही तुरंत आपके तनाव दूर हो जाएंगे।


और पढ़िए:-

तनाव या स्ट्रेस क्या है ?


तनाव को काबू कैसे करें ? क्या है वो Tips जिस से तनाव प्रवंधन में मद्दत या तनाव को दूर करें?


टिप 5: तुरंत तनाव को दूर करनेवाली तरीकों को करने की आदत बनाये:


तनाव के बीच कोई भी तरीके का अचानक इस्तेमाल करना आसान नही होता। इसीलिए हमें चाहिए कि हम उन तरीकों को अपना आदत बना लें जिससे तनाव के वक़्त हमे वो कर सके और ज्यादा परेशानी भी न हो।

इसीलिए वैसी आदतों को विकसित करें जैसे कि सैर पे जाना या कोई गेम खेलना या किताबें पढना इत्यादि। आदतें एक दिन में नही बनती इसीलिए अपनी पसंदीदा काम जो आपको तनाव से दूर रखता हो, उसको तब तक करें जब तक वो आपका लत ना बन जाए।

किसीभी कार्यको आदत बनाने के लिए निम्नलिखित तरीके अपनाए:-


-छोटी स्तर के स्रोत से सुरुवात करे:-

बड़ी तनाव के स्रोत पर अपने तरीकों का प्रयोग करने के बजाय हल्का तनाव के स्रोत पर प्रयोग करें जैसे कि कही जरूरी काम पे जाना हो पर आपको देर हो रही है, बहुत जोर से भूख लगी है पर खाना अभी बना नही या ठंडा हो चुका है, बिल का भुकतान करना है पर पैसे कम है इत्यादि।


-स्रोत को पहचान उसे निशाना बनाये:-

सुरुवात में छोटी स्तर के सिर्फ एक स्रोत को पहचाने जिस से आपको अक्सर तनाव होती हो और फिर उसपे अपने तरीके का इस्तेमाल करें। फिर कुछ दिन या हफ्ते बात अगला स्रोत पहचाने और उनको निशाना बनाये।


-अपनाए गए तरीकों का पूरा आनंद लें:-

आप जो भी तरीके अपना रहे है उसे एक खेल के रूप में करें न को काम के रूप में क्योंकि काम से शारीरिक और मानसिक थकान होती है लेकिन खेल और मौजमस्ती में नही।


-अपने तरीकों के बारेमें अपने करीबी से सल्लाह ले:

आप जिस तरीक़े का इस्तेमाल कर रहे है उसके बारेमें अपने करीबी से बात करे ताकि वो उन तरीकों को और बेहतर बनाने में मद्दत कर सकें।



टिप 6: आप जहां भी हों, अभ्यास करें


तुरंत तनाव दूर करने वाली रणनीतियों या तरीकों का तभी लाभ मिलेगा जब आप उसमे महारत होंगे। और उसमें महारत होने के लिए आप जहा भी रहे चाहे घर पे हो या काम पे, कुछ वक्त निकालकर उनको करते रहे ताकि आप तनाव के बचें रहे।


याद रहे कि यह टिप्स तभी काम करेगा जब आप पूरे विश्वास के साथ इनको करेंगे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.